भारत में इक्विटी में व्यापार कैसे करें

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai
एसबीआई योनो के तहत शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने वाले निवेशकों के लिए बेहतर ऑफर मिल रहा है. (Image- SBI)

डीमैट अकाउंट के नुकसान।

अक्सर डीमैट अकाउंट की बाते एक दूसरे व्यक्तियों के बीच हो रहती है इसके बहुत सारे फायदे बताये जाते है डीमैट अकाउंट के लाभ ये है वो है आज के इस लेख में हम आपको डीमैट अकाउंट के नुकसान। के बारे में जानंगे और इससे जुडी जानकारी हम लोग इसमें कवर करेंगे इसके लिए आप इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़े ताकि आपको डीमैट अकाउंट से सम्बंधित जानकारी प्राप्त हो जाये।

डीमैट अकाउंट को स्टॉक ट्रेडिंग, शेयर मार्केट इन्वेस्टमेंट, म्यूच्यूअल फण्ड प्लान, डिजिटल गोल्ड, खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जाता है यहाँ से किसी स्टॉक में इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते है साथ ही Long-Term के लिए Mutual Fund Plan में भी निवेश कर सकते है और ऑनलाइन स्टॉक ट्रेडिंग करके अच्छे पैसे भी कमा सकते है।

डीमैट अकाउंट की आवश्यकता उन्ही लोगो को पड़ती है जो स्टॉक मार्किट में पैसा इन्वेस्ट करना चाहते है स्टॉक ट्रेडिंग करना चाहते है म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करना चाहते है या डिजिटल गोल्ड में इन्वेस्ट करना चाहते है और यहाँ से अच्छा मुनाफा कामना चाहते है उन्हें डीमैट ओपन करना होता है डीमैट खाता शुल्क भी देना होता है।

Demat Account आप किसी बैंक से या इंटरनेट पर मौजूद ब्रोकर के द्वारा अकाउंट ओपन कर सकते है कई ऐसे प्लेटफार्म पर जहा डीमैट अकाउंट के लिए शुल्क लिया जाता है वही कुछ प्लेटफार्म पर फ्री में डीमैट अकाउंट ओपन किया जाता है जैसे खाता खुल जाता है फिर आप ऑनलाइन ट्रेडिंग या इंवेस्टमेंट की शुरुआत कर सकते है।

डीमैट अकाउंट के नुकसान।

अब आपके मन में ये सवाल ज़रूर होगा की डीमैट अकाउंट के क्या नुकसान हो सकते है क्योकि अधिकतर डीमैट अकाउंट यूजर इस पर गौर नहीं करते है यूजर यही जानते है की डीमैट अकाउंट से स्टॉक ट्रेडिंग करने में आसानी हो गयी है पहले डीमैट अकाउंट नहीं हुआ करते थे तब शेयर मार्किट में निवेश करना काफी कठिन हुआ करता था जोकि आज डीमैट अकाउंट ने उसे आसान बना दिया है एक जगह बैठकर आप शेयर मार्केट में निवेश करना शुरू कर सकते है।

जहा कई फायदे होते है वही नुकसान भी काफी होते है उसी पर हम लोग चर्चा करेंगे और जानेगे की डीमैट अकाउंट के नुकसान क्या है।

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का उपयोग।

स्टॉक ट्रेडिंग वर्तमान समय मे इलेक्ट्रॉनिक हो गया है इसके लिए आपको इलेक्ट्रोनिक गैजेट का इस्तेमाल करना आना चाहिए जैसे स्मार्ट फ़ोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट, चलाने की अच्छी जानकारी होनी ज़रूरी है उसके साथ आपको शेयर चुनना पोर्टफोलिओ चेक करना टेक्निकल एनालिसिस फ़ण्डामेंट एनालिसिस करना आना ज़रूरी है।

यदि आपको कंप्यूटर का यूज़ या मोबाइल का यूज़ करना सही ढंग से नहीं आता है तो आपके लिए कठिनाई हो सकती है ट्रेडिंग करने में मुश्किल हो सकती है इसके साथ यदि आपको इलेक्ट्रॉनिक गैजेट यूज़ करना सही ढंग से नहीं आता है तो डीमैट अकॉउंट आपके के लिए नुकसान दायक साबित हो सकता है।

क्योकि वर्तमान में ऑनलाइन फ्रॉड कई तरीके से किये जाते है जानकारी न होने के कारण आपका डीमैट खाता हैक भी हो सकता है और आपके सारे इन्वेस्टमेंट पर पानी फिर कर सकता है इसलिए अधिक जानकारी प्राप्त करने के बाद ही डीमैट अकाउंट ओपन करे।

सालाना रखरखाव शुल्क।

अगर आप डीमैट अकाउंट पहले से इस्तेमाल ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai कर रहे है तो आपको ये पता होगा की वर्षित रखरखाव शुल्क लगता है जो अधिकतर निवेशक के लिए भारी पड़ता है आपके डीमैट अकॉउंट में शेयर हो या न हो डीमैट अकाउंट का जो वर्षित शुल्क है उसे आपको देना ही होगा।

डीमैट अकाउंट शुल्क सभी प्लेटफार्म पर नहीं लगता है जैसे कई बैंक फ्री में डीमैट अकाउंट ओपन करने का मौका देते है वही कई ऐसे इंटरनेट पर प्लेटफार्म मौजूद है जो फ्री में डीमैट अकाउंट ओपन करवाती है यह शुल्क सभी प्लेटफार्म का अलग अलग हो सकता है।

यदि आप एक नए निवेशक है तो आपको किसी ऐसे प्लेटफार्म के साथ जाना चाहिए जहा फ्री में डीमैट अकाउंट ओपन करने की सुविधा मिलता हो क्योकि शुरूआती दौर में आपको शुल्क देने का कोई मतलब नहीं है फर्जी पैसो का नुकसान होगा इस लिए आप इंटरनेट पर मौजूद फ्री डीमैट अकाउंट प्लेटफार्म की सुविधा ले सकते है।

स्टॉक ब्रोकर का निरीक्षण।

आपको अपने डीमैट अकॉउंट और ब्रोकर की निगरानी खुद करनी है इनके द्वारा किये जा रहे सभी कार्यो पर नजर रखना है क्योकि सभी स्टॉक ब्रोकर के पास मार्किट चलाने की क्षमता होती है वो उसका दुरूपयोग भी कर सकते है इस लिए अपने अकॉउंट की खुद निगरानी करनी है अपने डेटा को खुद सुरक्षित रखे।

डीमैट अकाउंट और ब्रोकर पर निगरानी अंत्यंत आवश्यक है क्योकि दुरुपयोग करके आपके डीमैट अकाउंट से सही गलत ट्रांसक्शन भी किये जा सकते है इस पर आपको ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai ध्यान देना है की कही गलत लेनदेन तो नहीं हो रहा है।

ऐसे ही कई प्रकार की डीमैट अकाउंट के नुकसान हो सकते है इसलिए आपको सही तरीके से अपने अकाउंट को लेकर सचेत रहे है किसी अच्छे प्लेटफार्म पर ही अपना डीमैट खाता खोले ताकि आपका खाता सुरक्षित रहे है।

डीमैट खाता खोलने के लिए इस लेख को पढ़े…

डीमैट खाता के लाभ।

जहा डीमैट खाता के कई नुकसान है वही पर डीमैट खाते के कई फायदे भी है आइये एक नजर इस पर भी डालते है।

कुछ समय पहले शेयर मार्किट में इन्वेस्टमेंट करना बहुत भारी काम होता था यदि आप किसी तरह से इन्वेस्टमेन्ट कर भी ले तो सेल करने में काफी टाइम लगता है ट्रांसक्शन में काफी में समय लग जाता था लेकिन अभी आप अपने स्टॉक को मिंटो में बेच और खरीद सकते है यह बहुत बड़ा फायदा निवेशक के लिए है।

चोरी होने के चान्सेस कम हो गए है क्योकि डीमैट अकाउंट में स्टॉक को डिजिटल रूप में प्रदर्शित किये जाते है जिसे कोई चोरी नहीं कर सकता है यदि कोई कर भी लेता है तो उसके द्वारा सेल नहीं किया जा सकता है उससे वह खुद फायदा नहीं ले सकता है इसलिए आप निश्चिन्त होकर इन्वेस्टमेंट कर सकते है।

शेयर मार्किट में आपको ज्यादा समय देनी की आवश्यकता नहीं है अब कुछ ही क्लिक में depository, participants, प्राप्त कर सकते है इसके लिए पहले काफी समय लग जाता था यह सारी सुविधाएं डीमैट खाता प्रदान करता है।

डीमैट खाता से आप ऑनलाइन स्टॉक ट्रेडिंग के साथ इन्वेस्टमेंट भी कर सकते है साथ ही म्यूच्यूअल फण्ड और डिजिटल गोल्ड में भी निवेश कर सकते है जो कम समय में आसानी से पूरा कर सकते है।

डीमैट खाता शुल्क।

डीमैट अकाउंट के नुकसान। के बारे में जानने के बाद अब जानते है डीमैट खाता का शुल्क क्या लगता है इसका शुल्क सभी प्लेटफार्म पर सेम नहीं होता है अलग अलग हो सकता है इसलिए आप जब भी डीमैट अकाउंट ओपन करे थोड़ा रिसर्च करने के बाद ही किसी प्लेटफार्म पर अपना खाता खोले कई ऐसे प्लेटफार्म पर फ्री में भी डीमैट अकाउंट ओपन करने की सुविधा मिल जाती है अगर शुरूआती दौर में है तो फ्री में किसी प्लेटफार्म से डीमैट अकाउंट ओपन करे।

समाप्त

इस लेख में हम लोगो ने जाना है की डीमैट अकाउंट के नुकसान। क्या है और डीमैट खाता के लाभ क्या है इस विषय पर जानकारी प्राप्त की है इसे उन निवेशक को ज़रूर पड़ना चाहिए जो अभी स्टॉक मार्किट में नए है क्योकि फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी जानना काफी ज़रूरी है इस लेख को पढ़कर आप डीमैट खाता से सम्बंधित जानकारी जान सकते है।

मुझे आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा इससे सहायता मिला होगा ऐसे जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग पर पब्लिश कंटेंट को पढ़ सकते है और जानकारी प्राप्त कर सकते है यदि इस लेख से जुडा आपका कोई प्रश्न है तो आप मुझे कमेंट करके पूछ सकते है उसका जवाब आपको मिल जायेगा इस जानकारी को उन नए निवेशक तक पहुंचाना न भूले जो ऐसे जानकारी से रूबरू होना चाहते है और इन चीजों पर विशेष ध्यान दे।

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai

You are currently viewing Trading Account क्या होता है ,कैसे खोले और क्या है इसके फायदे ?

Trading Account क्या होता है ,कैसे खोले और क्या है इसके फायदे ?

  • Post last modified: July 12, 2020
  • Post author: Yogesh Singh
  • Post category: Share Market
  • Post comments: 0 Comments

हेलो दोस्तों ! Trading account के बारे में पढ़ने से पहले आप हमारे पिछली पोस्ट डीमैट अकाउंट क्या होता है ? वह जरूर देख ले | चलिए आगे बढ़ते है क्या आप को पता है Trading Account क्या होता है (What is trading account in hindi)? कैसे आप भी Trading Account खोल सकते है ? इसके क्या क्या फायदे है ?बाजार में निवेश करने के लिए Trading Account क्यों जरुरी है ?आईये विस्तार में जानते है |

Trading Account क्या होता है (What is Trading Account in Hindi )?

ट्रेडिंग खाते का उपयोग शेयरों को खरीदने और बेचने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए किया जाता है। यदि आप शेयर बाजार में शेयर्स की लेन-देन करना चाहते हैं तो आपके पास ट्रेडिंग खाता होना अनिवार्य है।

ट्रेडिंग खाते की मदद से आप शेयर्स खरीदने की पेमेंट कर पाते है और शेयर्स बेचने पर बेचे हुए शेयर्स की राशि आपके ट्रेडिंग अकाउंट में आ जाती है | जिसे सेविंग ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai बैंक अकाउंट में भी स्थानांतरित किया जा सकता है |

शेयर्स की लेन देन करने की प्रक्रिया को पूरा के लिए केवल ट्रेडिंग अकाउंट का होना ही काफी नहीं है आपके पास डीमैट अकाउंट और सेविंग बैंक अकाउंट का भी होना भी अनिवार्य है ताकि आपका ब्रोकर आपके खरीदे हुए शेयर्स को डीमैट अकाउंट में रख सके और शेयर्स खरीदेने पर उनके पैसे को सेविंग अकाउंट से ट्रेडिंग अकाउंट में ट्रांसफर कर सके और शेयर्स बेचने पर पैसो को ट्रेडिंग अकाउंट में रख सके और आप ट्रेडिंग अकाउंट से वह पैसे अपने सेविंग अकाउंट में भी ट्रांसफर कर सकते है |

Trading Account खुलवाने के लिए कौन कौन से Documents की जरुरत पड़ती है ?

ट्रेडिंग खाता खुलवाने के लिए आपके पास नीचे दिए गए डाक्यूमेंट्स की जरुरत पड़ती है|

  • पैन कार्ड (Pan Card)
  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • २ पासपोर्ट फोटो (2 Passport Size Photos)
  • बैंक विवरण (6 month bank statement or ITR filing)

elss funds scheme

Trading Account को कैसे Open किया जाता है?

Trading Account सिर्फ स्टॉक ब्रोकर के द्वारा ही खोला जाता है और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने किये आपके पास Demat Account जरुर होना चाहिए |

Discounted Brokers के आ जाने से Demat ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai और Trading अकाउंट खुलवाने की प्रक्रिया काफी किफायती हो गयी है तो आप अपना Demat और Trading अकाउंट Upstox,Zerodha जैसे Discounted Brokers के पास भी खुलवा सकते है | यहाँ तक की ब्रोकर्स तो फ्री में डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवा के देते है वह भी एक साल फ्री Maintenance के साथ फ्री में अकाउंट खुलवाने के लिए आप Upstox and Angel Broker जैसे Discounted Brokers पास जा सकते है |

  • Trading Account खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड का होना अनिवार्य है और उसके साथ पहचान पत्र और एक सेविंग अकाउंट भी होना चाहिए ताकि ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए आप इसमें से फंड ट्रांसफर कर सके.
  • सबसे पहले आपको एक ब्रोकर खोजने की आवश्यकता है जिसके साथ आप एक ऑनलाइन Trading Account खोलना चाहते हैं।
  • एक बार जब आप सारे आवश्यक दस्तावेजों के साथ इस फॉर्म को upload कर लेते हैं तो आपकी ब्रोकिंग कंपनी के पास यह फॉर्म आ जाता है और सब कुछ सही होने पर इसके तुरंत बाद वो आपको Login Credentials प्रदान कर देते है |

Trading Account के फायदे

  1. Trading Account आपको Margin Money की सुविधा प्रदान करता है जिसके मदद से आप कम पैसे में ज्यादा मूल्य वाले स्टॉक्स पे ट्रेड कर सकते है |
  2. Trading Account से आप दुनिया में कई भी रहते हुए सिर्फ मोबाइल के एक क्लिक से शेयर्स खरीद और बेच सकते है |
  3. Online Trading Account की मदद से जब एक स्थान से दूसरे स्थान पर धनराशि स्थानांतरित करने की बात आती है तो इसमें कोई कठिनाई नहीं होती है ।
  4. Trading account खोलते ही देश के विभिन्न प्रकार के स्टॉक एक्सचेंजों तक आप की पहुंच हो जाती है। जिससे आपको अपने निवेश को बेहतर और मजबूत बनाने में मदद मिलते है और निश्चित रूप से आपके पास shares को तलाशने के लिए अधिक विकल्प होते है ।
  5. Trading account की मदद से आप कभी भी अपने मोबाइल से खाते तक पहुंचने का लाभ उठा सकते हैं ।

यह भी पढ़े

Conclusion

आज हमने जाना की Trading Account क्या होता है किसी निवेशक के लिए यह कितना जरुरी है | अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमे कमेंट कर सकते है |

SBI YONO पर खोलिये डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट; कम होगा खर्च, सालाना AMC पर भी मिलेगी छूट

SBI Yono Trading Offer: शेयर ट्रे़डिंग के लिए आपके पास Demat Account और Trading Account होना चाहिए. SBI Yono के जरिए इन खातों को खोल रहे हैं तो आपके 1350 रुपये बचेंगे.

SBI YONO पर खोलिये डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट; कम होगा खर्च, सालाना AMC पर भी मिलेगी छूट

एसबीआई योनो के तहत शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने वाले निवेशकों के लिए बेहतर ऑफर मिल रहा है. (Image- SBI)

SBI Yono Trading Offer: स्टॉक ट्रे़डिंग के लिए आपके पास Demat Account और Trading Account होना चाहिए. इन दोनों खातों पर शुल्क भी देय होता है लेकिन अगर SBI Yono के जरिए इन खातों को खोल रहे हैं तो आपके 1350 रुपये बचेंगे. अगर आप शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव से नहीं घबराते हैं और अपनी पूंजी पर बेहतर रिटर्न निवेश करना चाहते हैं तो इक्विटी में निवेश बेहतर विकल्प हैं. इसके लिए आपको कुछ जरूरी औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं जिसके बिना आप ट्रेडिंग नहीं कर सकते हैं और शेयर्स को होल्ड नहीं कर सकते हैं.
बैंक द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक एसबीआई योनो के जरिए इन दोनों खातों को खोलने पर 1350 रुपये की बचत होगी. इसमें 850 रुपये खाता खोलने का शुल्क नहीं लगेगा. इसके अलावा सालाना डीपी एएमसी (एकाउंट मेंटेनेंस चार्ज) के तहत 500 रुपये का चार्ज पहले साल नहीं चुकाना होगा.

इस तरह खोलें डीमैट और ट्रेडिंग खाता

  • योनो की वेबसाइट पर लॉग इन करें.
  • Menu पर क्लिक करें.
  • Financial Produts के तहत Investments में Securities पर क्लिक करें.
  • Link / Open a New Demat & Trading Account पर क्लिक करें.
  • Open Demat & Trading Account पर क्लिक करें. इसके बाद दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर अपना डीमैट और ट्रेडिंग खाता खोल सकते हैं.

Yono App के जरिए ऐसे खोलें खाता

  • ऐप में लॉग इन करें.
  • मेन्यू के लिए ऊपर बायीं तरफ बने सिंबल पर क्लिक करें
  • एक डॉप मेन्यू खुलेगा. उसमें इंवेस्ट पर क्लिक करें.
  • अगले मेन्यू में ‘ओपन डीमैट एंड ट्रेडिंग अकाउंट’ पर क्लिक करें.
  • Through SBICap Securities के तहत दिए गए विकल्प ‘ओपन डीमैट एंड ट्रेडिंग अकाउंट’ पर क्लिक करें.
  • इसके बाद दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें.

क्या होता है डीमैट और ट्रेडिंग खाता

आपने जिन शेयरों या सिक्योरिटीज (बांड्स, ईटीएफ, म्यूचुअल फंड यूनिट्स इत्यादि) में निवेश किया है, उन्हें डिजिटल मोड में डीमैट खाते में रखा जाता है. इसके विपरीत ट्रेडिंग अकाउंट के जरिए ही डीमैट खाते में रखे सिक्योरिटीज की बिक्री की जा सकती है. ट्रेडिंग खाते के जरिए ही स्टॉक एक्सचेंज पर आप शेयरों की खरीद-बिक्री के लिए पोजिशंस ले सकते हैं. ब्रोकरेज फर्म अकाउंट ओपनिंग्स के लिए शुल्क लेती हैं.

How To Use Your Diwali Bonus : दिवाली बोनस का कैसे करें इस्तेमाल? सही जगह निवेश से मिलेगा सुख-समृद्धि का आशीर्वाद

Fixed Deposit Rates: बैंक में FD करने का है इरादा, SBI, ICICI और HDFC बैंक में कितना मिल रहा रिटर्न? चेक करें लिस्ट

TRADING ACCOUNT कैसे ओपन किया जाता है,

Zerodha

सबसे पहली बात जो हमें याद रखनी चाहिए कि ट्रेडिंग अकाउंट स्टॉक ब्रोकर के पास खोला जाता है, और सभी स्टॉक ब्रोकर एक रजिस्टर्ड कंपनी होती है, और SEBI के अनुसार भारत में अभी तक लगभग 8 हजार स्टॉक ब्रोकर कम्पनी रजिस्टर्ड है,

ऐसे में अगर हमें ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करना है तो सबसे पहले हमें ये तय करना होता है कि हम किस ब्रोकर के पास अपना ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करे, आप नीचे दिए गए लिंक पर सभी रजिस्टर्ड स्टॉक ब्रोकर की लिस्ट को देख सकते है-

और इन सभी स्टॉक ब्रोकर में से हमें तय करना होगा कि हम किस ब्रोकर के पास अपना अकाउंट ओपन करे, किसी अन्य आर्टिकल में हम देखेंगे की स्टॉक ब्रोकर का चुनाव कैसे करे,

फ़िलहाल यहाँ अगर आप एक बार ये तय कर लेते है कि आपको XYZ, किस ब्रोकर के पास अपना ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करना है, फिर आप उस कंपनी के नजदीकी ब्रांच ऑफिस में जाकर अकाउंट ओपनिंग फॉर्म भर कर दे सकते है, साथ आपको अपने कुछ KYC के DOCUMENTS और बैंक अकाउंट की डिटेल्स देनी होती है,

दूसरी तरफ आजकल अकाउंट ओपन करने के लिए आप स्टॉक ब्रोकर कम्पनी की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म और और KYC डाक्यूमेंट्स की SCANNNED COPIES को आप उस फॉर्म के साथ अपलोड कर सकते है, और बाद में आप कूरियर की मदद से अपनी SELF ATTESTED KYC डाक्यूमेंट्स और ओरिजिनल FORM कम्पनी के पास भेज सकते है, और स्टॉक ब्रोकर कंपनी जैसे ही आपके डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई कर लेती है, और फिर आपका ट्रेडिंग अकाउंट ओपन कर दिया जाता है,

यहाँ एक बात और ध्यान रखने वाली बात है कि, अधिंकाश केस में स्टॉक ब्रोकर कम्पनी ट्रेडिंग अकाउंट और DEMAT ACCOUNT साथ ही साथ ओपन कर देती है,

ट्रेडिंग अकाउंट को हम कैसे काम में लेते है,

ट्रेडिंग अकाउंट की मदद से ही हम स्टॉक मार्केट में किसी स्टॉक को खरीदने या बेचने का आर्डर अपने स्टॉक ब्रोकर को देते है,और फिर हमारा स्टॉक ब्रोकर हमारे आर्डर को स्टॉक एक्सचेंज तक पहुचाता है, और हमारा आर्डर कम्पलीट होने पर स्टॉक ब्रोकर हमें आर्डर कम्पलीट होने का कन्फर्मेशन और डिटेल्स भेज देता है,

आज ये सभी कम ऑनलाइन होता है, और इन्टरनेट की मदद से हमें स्टॉक ब्रोकर द्वारा दिए गए सॉफ्टवेयर की हेल्प से हम अपने ट्रेडिंग अकाउंट में लोग इन करके, उसमे फण्ड को पहले ऐड करते है, फिर स्टॉक खरीदने का आर्डर दे सकते है, और आर्डर कम्पलीट होने पर हमारे ट्रेडिंग अकाउंट से पैसे कट जाते है, और हमें स्टॉक मिल जाते है,

ठीक इसी तरह जब हम स्टॉक बेचते है, तो स्टॉक बेचने पर मिलने वाली धनराशी हमारे ट्रेडिंग अकाउंट में ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai जमा हो जाती है,

TRADING ACCOUNT खोलने के लिए आवश्यक DOCUMENTS

TRADING ACCOUNT ओपन करने के लिए स्टॉक ब्रोकर कम्पनी द्वारा मांगे जाने वाले सामान्य डाक्यूमेंट्स

  1. Pan card
  2. Photographs: Passport Size Photograph
  3. Address proof: आधार कार्ड /Voter id/Pass port/Driving license
  4. Income proof: Recent six months bank statement, ITR Form-16, recent pay slip any one
  5. Bank proof: Cancel cheque

TRADING ACCOUNT फ़ीस कितना होता है,

ट्रेडिंग अकाउंट का फीस, सभी स्टॉक ब्रोकर का अलग अलग हो सकती है, अगर सामान्य बात की जाये तो 200 से लेकर 1000 रूपये या उस से ज्यादा भी हो सकता है,

ऐसे में हमें ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करते समय, स्टॉक ब्रोकर का चुनाव करते समय ही स्टॉक ब्रोकर द्वारा अकाउंट खोलने के चार्जेज और ब्रोकरेज चार्ज और उसके द्वारा दी जाने वाली सारी सुविधाओं का ध्यान पहले ही रखना चाहिए,

जिस से की हमें ज्यादा फीस या ब्रोकरेज न देने पड़े.

अगर पोस्ट अच्छा लगा तो नीचे अपना कमेंट या सवाल जरुर लिखे,

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai

You are currently viewing डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर है !!

डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर है !!

  • Post author: Ankita Shukla
  • Post published: March 14, 2019
  • Post category: Gyan
  • Post comments: 0 Comments

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “Demat Account and Trading Account” अर्थात “डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट” के विषय में बताने जा रहे हैं. आज हम बताएंगे कि “डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और इनमे क्या अंतर होता है?”. जैसा कि हम सब जानते हैं जब भी हम एक ब्रोकर के जरिये अपना डीमैट अकाउंट खुलवाते हैं, तो वो साथ में ट्रेडिंग अकाउंट भी खोलते हैं. क्यूंकि बिना ट्रेडिंग अकाउंट के आप शेयर मार्किट में अपना काम आसानी से नहीं कर सकते हैं. लेकिन दोनों अकाउंट साथ में खुलने का अर्थ ये बिलकुल नहीं होता है कि दोनों अकाउंट समान कार्य करते हैं या ये दोनों अकाउंट समान है. दोस्तों आज हम आपको इन्ही के विषय में कुछ जानकारी देने जा रहे हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है | What is Trading account in Hindi !!

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है | What is Trading account in Hindi !!

जैसा कि हम सब जानते हैं, कि पहले से समय में किसी भी कार्य को करने के लिए हमारे पास इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का साधन उपलब्ध नहीं हुआ करते थे और यह समान स्थिति शेयर मार्किट के केस में भी थी. अर्थात जब भी पहले कोई भी कंपनी के शेयर को खरीदता था, तो उसे सर्टिफिकेट के रूप में एक कागज दिया जाता था, जिसपर व्यक्ति का नाम, शेयर की संख्या, तारीख, आदि लिखा रहता था. लेकिन अब वो समस्या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिये दूर हो गयी है अर्थात अब यदि आप ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai किसी कंपनी के शेयर खरीदना या बेचना चाहते हैं तो अब आपको उसके लिए शारीरिक रूप से उपस्थित होना आवश्यक नहीं होता है. बस कंप्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से आप आसानी से शेयर को खरीद व बेच सकते ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai हैं, लेकिन इस प्रकार के लेनदेन मतलब ट्रेडिंग के लिए आपके पास ट्रेडिंग अकाउंट होना अनिवार्य होता है. यदि आपको शेयर मार्किट में अपना बिज़नेस करना है या शेयर का लेनदेन करना है, तो आपको ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। जिसके बिना ये संभव नहीं होता है.

डीमैट अकाउंट क्या है | What is Demat Account in Hindi !!

डीमैट अकाउंट क्या है | What is Demat Account in Hindi !!

अब जैसा कि आपको समझ में आ गया होगा कि ट्रेडिंग अकाउंट का क्या काम है तो बात अब डीमैट अकाउंट की करते हैं , यह अकाउंट भी शेयर मार्केट का ही एक भाग है। ट्रेडिंग अकाउंट के जरिये हम शेयर बाजार में शेयर की खरीद और बिक्री करते हैं। तब हमे उन उस खरीदे हुए शेयर को रखने के लिए भी एक एकाउंट की आवश्यकता पड़ती है, जिसे हम डीमैट अकाउंट कहते है। जब हम कोई शेयर खरीद कर अपने पास रख लेते हैं तो वह डीमैट अकाउंट में इलेक्ट्रॉनिक रूप से सेव रहते है, और जब हम उन शेयर को बेचना चाहते हैं तो शेयर हमारे डीमैट अकाउंट से निकलकर ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से खरीदने वाले के पास चले जाते है।

Difference between Demat Account and Trading Account in Hindi | डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर है !!

# ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट अकाउंट दोनों साथ में खोले जाने वाले अकाउंट होते हैं.

# ट्रेडिंग अकाउंट के जरिये शेयर को खरीदा व बेचा जाता है और डीमैट अकाउंट के जरिये शेयर को सुरक्षित संभाल कर रखा जाता है.

# ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता पहले पड़ती है और डीमैट अकाउंट की आवश्यकता बाद में पड़ती है.

# जब हम शेयर मार्किट में शेयर खरीदते या ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai बेचते हैं तो ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता होती है और जब उन खरीदे शेयर को हम किसी अकाउंट में रखते हैं तो वो अकाउंट डीमैट अकाउंट होता है.

आशा हैं आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी से कुछ लाभ अवश्य मिला होगा और साथ ही आपको हमारा ब्लॉग पसंद भी आया होगा. यदि फिर भी आपको कोई त्रुटि दिखाई दे, या कोई सवाल या सुझाव आपके मन में हो. तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के बता सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे कि हम आपकी उम्मीदों पे खरा उतर पाएं। धन्यवाद .

Ankita Shukla

✔️ izoozo.com Provide Hindi & English Content Writing Services @ low Cost ✔️अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 4.5 साल का SEO और 6.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद . !!

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 100
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *