फोरेक्स टुटोरिअल

विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है

विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है
गीता में कर्मयोग में शासक का कर्तव्य बताते हुए शर शय्या पर लेते भीष्म ने युधिष्ठिर को ज्ञान दिया था कि प्रजा के दुःख विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है का निवारण ही तुम्हारा कर्तव्य होना चाहिए। आज हिन्दू – हिन्दू चिल्लाने वाले केवल मुस्लिम – ईसाई को कोसते हैं, वे समाज में असमानता को दूर करने के बजाय सरकारी संपातियों को उन लोगों को बेच रहे हैं जिनकी हैसियत बंैकों से लिए कर्ज को चुकाने की नहीं हैं। राष्ट्र के सकल उत्पाद का 30% कुल पाँच घरानों के पास पिछले सात सालों में पहुँच गया हैं। अब जनता को सवाल पूछना होगा कि किसान के लाख रुपये का कर्ज की वसूली उसका घरबार कुर्क करके होती हैं। पर योगी से व्यापारी बने को बैंक उदारतापूर्वक अरबों रुपये का उधार सुलभ करता हैं। अदानी समूह की बात ही निराली हैं। उनके लिए हुए कर्ज की कितनी भरपाई हुई है यह सुप्रीम कोर्ट में भी केंद्र सरकार ने नहीं खुलाषा किया। जबकि कर्जदारों को उधारी वसूली का नोटिस सार्वजनिक तौर पर प्रकाशित किया जाता हैं। जिन बैंकों ने अदानी या अनिल अंबानी को कर्ज दिया हैं वे भी अपनी बैलेंस शीट में यह विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है साफ साफ नहीं दिखते हैं की कितने कर्ज की वसूली बाकी है!

Indian Railways: अब घर बैठे बुक कर लें ऑनलाइन जेनरल टिकट, UTS मोबाइल से इस तरह करें बुक, जानें पूरा प्रोसेस

क्या है अमेरिका की करेंसी मॉनीटरिंग लिस्ट जिसमें से हटाया गया है भारत को?

इस समय दुनिया के सभी देश आर्थिक चुनौतियों से निपटने में उलझे हुए हैं. कोविड-19 महामारी के कमजोर पड़ने और रूस यूक्रेन संघर्ष के चलते दुनिया की अर्थव्यवस्था में अमेरिका (USA) और ब्रिटेन जैसे बड़े बड़े देश तक डगमगाते दिख रहे हैं. ऐसे में अमेरिका के आर्थिक नीतिगत फैसलों विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है पर दुनिया की निगाहें होना स्वाभाविक है. हाल ही में अमेरिका ने टेजरी विभाग ने मुद्रा निगरानी सूची (Currency Monitoring List) जारी की है जिसमें इस बार भारत का नाम नहीं (India) हैं. साल में दो बार अमेरिकी रोजकोष विभाग द्वारा वहां की संसद में पेश की जाने वाली रिपोर्ट में यह सूची जारी की जाती है. आखिर इस सूची में नाम होने का क्या मतलब है, उससे हटने के क्या फायदे-नुकसान है और क्या उसका कोई बहुत बड़ा प्रभाव भी पड़ेगा या नहीं.

क्या है इस सूची का मतलब

संघर्ष-शहादत कांग्रेस की और वाहवाही गोडसे और सावरकर की

भोपाल। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या से शुरू हुई राजनीतिक हिंसा, देश को झकझोर तो गयी, परंतु हिंदुत्ववादी शक्तियों के लिए हत्यारे विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है नाथुराम गोडसे को भी इतिहास में नाम दे दिया। इतिहास में सदैव ऐसा ही होता आया है। शिशुपाल के वध के लिए श्री कृष्ण का नाम आता हैं। जरासंध और दुर्योधन के वध के लिए भीम को याद किया जाता हैं। शायद यह मानव की रीति हैं। परंतु कभी भी कुमार्गियों के अंत को महिमा मंडित नहीं किया गया, जैसा विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है कि इस समय हो रहा हैं। अविभाजित पंजाब के मुख्यमंत्री रहे प्रताप सिंह कैरो की हत्या 6 फरवरी 1965 को दिल्ली -चंडीगडढ़ राजमार्ग पर सुच्चा सिंह, विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है और बलदेव सिंह तथा नहर सिंह ने की, जिन्हें बाद में अदालत ने फांसी की सज़ा दी। दूसरे राजनीतिक शिकार पंजाब के मुख्यमंत्री बेअंत सिंह बने, 31 अगस्त 1995 बने जिनकी चंडीगढ़ सचिवालय में बम विस्फोट में बेअंत सिंह सहित 18 लोगों की मौत हुई थी।

Shraddha Murder Case: आरोपी को उस जगह ले जाया गया, जहां उसने शव के टुकड़े फेंके थे

Shraddha Murder Case: आरोपी को उस जगह ले जाया गया, जहां उसने शव के टुकड़े फेंके थे

नयी दिल्ली, 15 नवंबर : दिल्ली पुलिस (Delhi Police) अपनी लिव इन पार्टनर की हत्या के आरोपी 28 वर्षीय एक व्यक्ति आफताब को मंगलवार को छतरपुर के जंगल में ले गयी जहां उसने कथित रूप से शव के टुकड़े फेंके थे. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस हत्या की जांच के तहत आरोपी आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawala) को छतरपुर के जंगल के विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है अलावा शहर के कुछ अन्य स्थानों पर ले जाया जाएगा. Shraddha Murder Case: श्रद्धा जिंदा है, यह दिखाने के लिए उसका इंस्टाग्राम यूज करता था आफताब.

जब पूनावाला को पुलिसकर्मी जंगल में ले विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है गये तब उसका चेहरा कपड़े से ढ़का था तथा कैमरामैन एवं पत्रकार उसका फोटो एवं बयान लेने विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है के लिए आपाधापी कर रहे थे. ऐसा लगता है कि इस नृशंस हत्या को लेकर जनाक्रोश सामने आने लगा है क्योंकि जब छतरपुर के जंगल में उसे ले जाया गया तब वहां एक महिला ने उससे सवाल किया कि उसे अपनी करतूतों पर शर्म नहीं है.

Also Read:

भारतीय रेलवे नेटवर्क का और विस्तार करने और प्रतिबंधों में ढील देने के लिए तैयार है. प्रेस नोट में कहा गया है, “कोई भी जोनल रेलवे जो 5 किमी के इस प्रतिबंध को 10 किमी तक और बढ़ाना चाहता है, वह सीआरआईएस को वांछित वास्तविक दूरी विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है विदेशी मुद्रा बैंकों का उपयोग कौन करता है प्रतिबंध के बारे में सूचित करेगा.”

अगर बिना रिजर्वेशन यात्रा करनी हो तो UTS App है ना

अगर बिना रिजर्वेशन सफर करना हो तो अनारक्षित या अनरिजर्व्ड टिकट खरीदने के लिए यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप (UTS App) एक शानदार विकल्प है. अनारक्षित टिकट बुकिंग प्रणाली से जुड़ी डिटेल्स जानने के लिए www.utsonmobile.indianrail.gov.in वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं.

इसके जरिए प्लेटफॉर्म टिकट और सीजन टिकट बुकिंग और Renewal की भी सुविधा मिलती है. UTS App Android और IOS दोनों के लिए उपलब्ध है. इसके जरिए हार्ड कॉपी और पेपरलेस टिकट, दोनों पाने का विकल्प मिलता है. इस ऐप को हिंदी में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

रेटिंग: 4.29
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 536
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *