ट्रेंड रणनीतियाँ

बाजार का समय

बाजार का समय
सत्र बंद होने के बाद – भारत में शेयर बाजारों के लिए बंद होने का समय दोपहर 3.30 बजे है। इस अवधि के बाद कोई एक्सचेंज नहीं होता है। इस समय के दौरान, हालांकि, समापन मूल्य का निर्धारण किया जाता है, जिसका अगले दिन के शुरुआती सुरक्षा मूल्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

शेयर बाजार का समय

भारत में स्टॉक मार्केट टाइमिंग: भारत में दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज-बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और एनएसई हैं। हालांकि बीएसई और एनएसई दोनों का समय समान है। भारतीय शेयर बाजार का समय इन दोनों प्रमुख बीएसई और एनएसई स्टॉक एक्सचेंजों के लिए समान है।

सबसे पहले, आपको यह जानना होगा कि भारत का शेयर बाजार सप्ताहांत या शनिवार और डोमिंगो पर बंद है। राष्ट्रीय अवकाश भी बंद हैं। आप स्टॉक एक्सचेंज छुट्टियों की सूची यहां पा सकते हैं: एनएसई इंडिया

इस लेख में हम इस बारे में अध्ययन करेंगे:

  • भारत में शेयर बाजार का समय
  • भारतीय शेयर बाजार का समय तीन सत्रों में टूट गया:
  • भारत में स्टॉक मार्केट क्लोजिंग टाइम डिवीजन हो सकता है
  • पोस्टमार्टम के आदेश
  • ‘Muhurat’ Sale
  • शेयर बाजार में निवेश कैसे संभव है?

भारतीय शेयर बाजार का समय तीन सत्रों में टूट गया:

सामान्य बैठक (जिसे निरंतर सत्र के रूप में भी जाना जाता है) – यह भारत की प्राथमिक बाजार हिस्सेदारी का समय है जो सुबह 9.15 बजे से चलेगा। 15.30 बजे तक इस दौरान किए गए कोई भी लेनदेन एक द्विपक्षीय आदेश मिलान प्रणाली का पालन करते हैं जिसमें मूल्य निर्धारण मांग और आपूर्ति के माध्यम से किया जाता है।

द्विपक्षीय आदेश मिलान की प्रणाली अस्थिर है, बाजार का समय जो कई बाजार में उतार-चढ़ाव को प्रेरित करती है जो अंततः सुरक्षा कीमतों में परिलक्षित होती है। प्री-ओपनिंग बाजार का समय बाजार का समय सत्र के लिए मल्टी-ऑर्डर सिस्टम को इस अनिश्चितता को प्रबंधित करने के लिए डिज़ाइन किया गया था बाजार का समय और इसे भारतीय शेयर बाजार के समय में पेश किया गया था।

पूर्व-सत्र के लिए सत्र – सत्र सुबह 9.00 बजे से 9.15 बजे तक चलेगा। इस समय आप किसी भी प्रतिभूति को खरीदने या बेचने के आदेश दे सकते हैं। इसे आगे तीन सत्रों में तोड़ा जा सकता है:

भारत में शेयर बाजार के बंद होने के समय को दो भागों में विभाजित किया जा सकता है-

दोपहर 3.30 – दोपहर 3.40 बजे

दोपहर 3 बजे से शुरू होने वाली स्टॉक ट्रेडिंग दरों के भारित औसत का उपयोग करके समापन मूल्य निर्धारित किया जाता है। – 3.30 बजे। एक वित्तीय बाजार में। सूचीबद्ध प्रतिभूतियों की भारित औसत कीमतों को बेंचमार्क और सेक्टर सूचकांकों जैसे निफ्टी, सेंसेक्स, एसएंडपी ऑटो, आदि की समापन कीमतों को निर्धारित करने के लिए माना जाता है।

3.40 बजे – शाम 4 बजे

यह अवधि क्लोजिंग टाइम पोस्ट शेयर बाजार है जब अगले दिन के व्यापार के लिए बोलियां लगाना संभव है। इस दौरान रखे गए प्रस्तावों की पुष्टि की जाती है, बशर्ते बाजार में पर्याप्त खरीदार और विक्रेता मौजूद हों। ये लेन-देन निर्धारित मूल्य पर पूरे होते हैं, चाहे बाजार मूल्य में बदलाव की शुरुआत हो।

इसलिए पूंजीगत लाभ को महसूस किया जा सकता है यदि उद्घाटन मूल्य एक निवेशक द्वारा बंद करने की कीमत से अधिक है जो पहले ही अपनी बोली लगा चुके हैं। यदि समापन मूल्य शुरुआती शेयर मूल्य से अधिक है, तो बोली सुबह 9.00 बजे के भीतर रद्द की जा सकती है। – 9.08 बजे।

शेयर बाजार में निवेश कैसे संभव है?

शेयर बाजार पर निवेश केवल ब्रोकरेज एजेंसियों के माध्यम से मानक ग्राहकों के लिए किया जा सकता है। विशिष्ट प्रतिभूतियों के आदेश इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रस्तुत किए जा बाजार का समय बाजार का समय सकते हैं, और प्रत्यक्ष निवेश पहुंच वाले एक स्टॉकब्रोकर टी + 2 निपटान बफर अवधि के माध्यम से अनुरोध को संभाल सकते हैं।

बहरहाल, पूंजी बाजार के समग्र अप्रत्याशित अस्तित्व के कारण बीएसई / एनएसई में सूचीबद्ध कंपनियों की गहन समीक्षा के बाद निवेश किया जाना चाहिए। आप एक अच्छे स्टॉक निवेश मंच की तलाश कर सकते हैं जो आपको विभिन्न कंपनियों के संपूर्ण विश्लेषण के साथ-साथ आपको आसानी से स्टॉक खरीदने की अनुमति प्रदान करेगा। भारतीय शेयर बाजार में सुबह 9.15 बजे से – 3.30 बजे से। इसके अलावा, चयनित कंपनियों की प्रतिभूतियों के लिए aftermarket बंद करने का अनुरोध किया जा सकता है। इसके अलावा, म्यूचुअल फंड एनएवी की ट्रेडिंग दिन के लिए बाजार के बंद होने के बाद होती है, जिसमें क्लोजिंग समय के अनुसार शेयरों के अंतिम मूल्य से दरें तय की जाती हैं।

शेयर बाजार में क्या होती है Muhurt Trading, निवेशक क्यों मानते हैं इसे बेहद शुभ?

मुहूर्त ट्रेडिंग के दिन निवेश को शुभ मानते हैं इन्वेस्टर्स

दीपक चतुर्वेदी

  • नई दिल्ली,
  • 19 अक्टूबर 2022,
  • (अपडेटेड 19 अक्टूबर 2022, 8:03 AM IST)

देशभर में दिवाली (Diwali) की धूम शुरू हो चुकी है और रोशनी के इस त्योहार में कुछ ही दिन बाकी हैं. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) में दिवाली के दिन भले ही छुट्टी रहती है, लेकिन इस दिन बाजार फिर भी एक घंटे के लिए खुलता है. दरअसल, शेयर मार्केट में दिवाली पर खास ट्रेडिंग की परंपरा काफी पुरानी है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurat Trading) के नाम से जाना जाता है. इस ट्रेडिंग के लिए विशेष तौर पर बाजार को ओपन किया जाता है.

सम्बंधित ख़बरें

इस छोटी सी कंपनी को बाजार का समय अडानी ग्रुप से मिला बड़ा ऑर्डर, शेयर बन गया रॉकेट
Anand Mahindra को भाए भारत के ये डेस्टिनेशन, कहा- विदेशी दोस्तों से करें शेयर
गुजरात के इन 3 बैंकों पर एक्शन, RBI ने बताया कि क्यों लगाया जुर्माना
किस बात से डर रहा है चीन? अचानक टाल दिया ये बड़ा फैसला
भारत कहां से खरीदता है सोना? आधा बाजार का समय तो इस छोटे से देश से मंगाता है

सम्बंधित ख़बरें

इस दिन निवेश शुभ मानते हैं इन्वेस्टर्स
ऐसी मान्यता है कि इस दिन मुहूर्त ट्रेडिंग से समृद्धि आती है और पूरे साल इन्वेस्टर्स पर धन बरसता है. पुराने डाटा को देखें तो पता चलता है कि मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में निवेशक मूल्य-आधारित स्टॉक्स की बाजार का समय खरीदारी करते हैं, जो लंबी अवधि के लिए अच्छे होते हैं. इस दौरान खरीदे गए शेयरों को निवेशक बेहद खास मानते हैं और यहां तक कि उन्हें अगली पीढ़ी तक ले जाते हैं. जैसी कि बाजार का समय देश में मान्यता है कि दिवाली का दिन कुछ भी नया काम शुरू करने के लिए शुभ होता है. ठीक इसी धारणा के तहत शेयर बाजार इन्वेस्टर्स इस विशेष मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र के दौरान स्टॉक मार्केट में अपना पहला निवेश करते हैं.

मुहुर्त ट्रेडिंग 2021 पर बाजार रहा था गुलजार
बीते साल 4 नवंबर, 2021 को मुहूर्त ट्रेडिंग का आयोजन किया गया था. इस एक घंटे के सेशन में बीएसई का सेंसेक्स 60 हजार के ऊपर पहुंच गया था. मुहुर्त ट्रेडिंग पर सेंसेक्स 60,067 अंकों के स्तर पर, जबकि निफ्टी 17,921 के लेवल पर बंद हुआ था. हालांकि, साल 2022 में शेयर बाजार बाजार का समय में खासी उथल-पुथल देखने को मिली है, लेकिन इसके बावजूद उम्मीद है मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स और निफ्टी में जोरदार तेजी देखने को मिलेगी.

शेयर बाजार में कल Diwali की छुट्टी, फिर भी होगी 1 घंटे की Muhurat Trading

दिवाली के मौके पर शेयर बाजार में मुहूर्त ट्रेडिंग की पुरानी परंपरा

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 23 अक्टूबर 2022,
  • (अपडेटेड 23 अक्टूबर 2022, 4:32 PM IST)

शेयर बाजार (Stock Market) में कल 24 अक्टूबर को दिवाली के मौके पर छुट्टी (Diwali Holiday) रहेगी. लेकिन निवेशकों को छुट्टी के दिन भी एक घंटे के लिए ट्रेडिंग करने का मौका मिलेगा. जी हां, स्टॉक मार्केट में दिवाली के मौके पर मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurat Trading) की परंपरा है, जिसके तहत घंटे भर के लिए मार्केट को ओपन किया जाता है. ये एक परंपरा के तौर पर लंबे समय से जारी है.

सम्बंधित ख़बरें

दिवाली के बाद PF खाते में आ सकता है ब्याज का पैसा! ऐसे करें बैलेंस चेक
दिवाली से पहले Reliance का कमाल, हफ्तेभर में शेयरहोल्डर्स हुए मालामाल
घर की छत पर लगाएं ये मशीन, मुफ्त मिलेगी बिजली. महिंद्रा बोले- बढ़िया है!
भारत की सबसे बड़ी सिगरेट कंपनी कौन-सी है? जानते हैं आप नाम
दिवाली से पहले SBI ने दिया बड़ा तोहफा, अब खाताधारकों को होगा फायदा

सम्बंधित ख़बरें

इस समय पर खुलेगा बाजार

स्टॉक एक्सचेंज दिवाली की छुट्टी के दिन सोमवार 24 अक्टूबर 2022 को शाम 6:15 बजे से शाम 7:15 बजे तक एक घंटे के विशेष मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए खुलेंगे. ब्लॉक डील सेशन 5.45 बजे से 6 बजे तक रहेगा, जबकि प्री-ओपनिंग सेशन शाम 6 बजे से लेकर 6.08 बजे तक होगा. पुराने आंकड़ों को देखें तो शेयर बाजार में मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान जोरदार तेजी देखी जाती रही है. इस बार भी उम्मीद है कि इस विशेष ट्रेडिंग में सेंसेक्स 60 हजार के पार निकलेगा.

2021 पर बाजार रहा था गुलजार

पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को सेंसेक्स 104.25 अंक चढ़कर 59,307.15 के स्तर पर बंद हुआ था. बीते साल 4 नवंबर, 2021 को दिवाली के मौके पर मुहूर्त ट्रेडिंग का आयोजन किया गया था. इस एक घंटे के सेशन में बीएसई का सेंसेक्स 60 हजार के ऊपर पहुंच गया था. मुहुर्त ट्रेडिंग पर सेंसेक्स 60,067 अंकों के स्तर पर, जबकि निफ्टी 17,921 के लेवल पर बंद हुआ था.

आने वाले समय में कैसा रहेगा शेयर बाजार,

(Ganesh Chaturthi 2022) के अवसर घरेलू शेयर बाजार और विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में कारोबार नहीं हो रहा है। लेकिन पिछले सत्र में घरेलू शेयर बाजारों में जबर्दस्त उछाल दर्ज किया गया था। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 1,564 अंक बढ़ा था, जो सेंसेक्स में पिछले तीन महीने से ज्यादा समय में एक दिन की सबसे बड़ी बढ़त है। अब निवेशकों की निगाह इस बात कर है कि आने वाले समय में बाजार किन कारकों से प्रभावित होगा।

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व (US Fed Reserve) के ब्याज दर को लेकर कदम, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के नीतिगत दर को लेकर निर्णय तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों के पूंजी प्रवाह जैसे कुछ प्रमुख कारक निकट भविष्य में घरेलू शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे। विश्लेषकों ने बुधवार को यह भी कहा कि निकट भविष्य में सितंबर तिमाही के कंपनियों के परिणाम भी बाजार के लिये रास्ता निर्धारित करेंगे। उनका कहना है कि बाजार में तेजी का रुख बना हुआ है।

दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त पर इन शेयरों में लगा सकते हैं पैसे, सालभर होगी कमाई! एक घंटे के लिए खुलेगा मार्केट

दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त पर इन शेयरों में लगा सकते हैं पैसे, सालभर होगी कमाई! एक घंटे के लिए खुलेगा मार्केट

Muhurat Trading 2022: दिवाली के दिन शेयर बाजार में पैसा लगाना शुभ माना जाता है। वैसे तो इस दिन फेस्टिव के चलते दिनभर बाजार में कारोबार बंद रहता है लेकिन शाम को एक घंटे के लिए बाजार ओपन होता है। वह एक घंटा शुभ मुहूर्त के तौर माना जाता है। इस शुभ मुहूर्त पर निवेशक शेयरों में दांव लगाते हैं। हर साल की तरह इस साल भी दिवाली के दिन यानी 24 अक्टूबर को शाम के वक्त शुभ मुहूर्त में एक घंटे के लिए बाजार ओपन होगा। अगर आप भी इस शुभ समय पर शेयरों दांव लगाने की सोच रहे हैं तो आइए जानते हैं डिटेल में.

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 725
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *