विदेशी मुद्रा व्यापार पर कैसे

विकल्प के प्रकार

विकल्प के प्रकार
Desh Bhagat University

UP Lekhpal Recruitment Result 2022- इस प्रकार परिणाम देख सकते है l

Uttar Pradesh Subordinate Services Selection Commission के द्वारा Lekhpal Recruitment 2022 के तहत आवेदन की प्रक्रिया 7 जनवरी 2022 को शुरू की गई थी l फिर सभी उम्मीदवारों को आवेदन करने के लिए 28 जनवरी 2022 तक का समय दिया गया था। इस भर्ती के तहत लाखों उम्मीदवारों ने आवेदन दिए हैं l लेखपाल भर्ती में काफी बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त होने के बाद उम्मीदवारों के बीच प्रतिस्पर्धा भी काफी ज्यादा बढ़ चुकी हैं। उत्तर प्रदेश राज्य में ऐसे लाखों उम्मीदवार हैं,जो सालों साल केवल UP Lekhpal Recruitment का ही इंतजार करते हैं।

यह भर्ती उत्तर प्रदेश राज्य की सबसे बड़ी भर्तियों में से एक है, जिसके माध्यम से हजारों उम्मीदवारों को रोजगार दिया जाता है। इस भर्ती की परीक्षा भी जुलाई में आयोजित की जा चुकी है, जिसके बाद अब उम्मीदवारों को केवल UP Lekhpal Recruitment Result 2022 का ही इंतजार हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश सबोर्डिनेट सर्विसेज सिलेक्शन कमिशन के द्वारा ही परिणाम को लेकर एक महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। इस जानकारी को जानने के पश्चात Lekhpal Recruitment Exam 2022 में शामिल होने वाले उम्मीदवार चैन की सांस लेंगे।

UP Lekhpal Recruitment Result 2022

Govt Jobs & Exam Notes के लिए फॉर्म भरे

31 जुलाई को आयोजित हुआ था, UPSSSC Lekhpal Recruitment Exam 2022

UPSSSC के द्वारा Lekhpal Recruitment Exam का आयोजन 31 जुलाई को उत्तर प्रदेश राज्य के विभिन्न शहरों पर बने परीक्षा केंद्रों पर करवाया गया था। इस भर्ती के माध्यम से 8,085 पदों पर नियुक्तियां दी जाएंगी। यदि हम पदों की संख्या को देखते हुए परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवारों की संख्या देखें तो वह बहुत ज्यादा है। इसीलिए चयनित केवल वही उम्मीदवार हो सकेंगे जो कि दिन रात मेहनत करके इस परीक्षा में शामिल हुए थें।

जरुरी खबरे आपके लिए :

इसी महीने जारी हो सकता हैं, UP Lekhpal Recruitment Result 2022

हाल ही में सूत्रों के मुताबिक यह जानकारी प्राप्त हुई है कि, UP Lekhpal Recruitment Result 2022 इस महीने कभी भी जारी किया जा सकता हैं। आयोग के द्वारा इस भर्ती के परिणाम को लेकर लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसीलिए परिणाम को आयोग की Official Website पर ही कभी भी जारी किया जा सकता है जिसके बाद ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से ही परिणाम देखे जा सकेंगे।

UP Lekhpal Recruitment 2022 से जुड़े सभी उम्मीदवारों को सूचित किया जाता है कि, वह आयोग की Official Website को बार-बार चेक करते रहें l क्योंकि परिणाम से संबंधित जानकारी आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर ही दी जाएगी। जबकि परिणाम देखने का लिंक भी यहीं पर Activate किया जाएगा।

How to Download UP Lekhpal Recruitment Result 2022

  • जब आयोग के द्वारा UP Lekhpal Recruitment Result 2022 जारी कर दिया जाएगा, तो उसके बाद सभी उम्मीदवारों को UPSSSC की Official Website पर विजिट करना होगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर दिए गए Notice Board में ही आपको परिणाम का लिंक दिख जाएगा l आपको उस पर क्लिक करना हैं।
  • जब आप Result Link पर क्लिक करेंगे, तो आपके सामने नया पेज खुल जाएगा।
  • यहां पर आपको सभी जरूरी जानकारी दर्ज करके Submit के विकल्प पर क्लिक करना हैं।
  • अब आपके सामने Result PDF आ जाएगी, आप चाहे तो इसे यहीं पर भी ओपन कर सकते हैं और इसे डाउनलोड करके इसका Printout भी ले सकते हैं।

Leave a Reply Cancel reply

REET & RPSC Search

  • UPPSC RO/ARO 2021 Result- यहाँ से जानिए परिणाम से जुडी पूरी जानकारी l November 16, 2022
  • UP Lekhpal Recruitment Result 2022- इस प्रकार परिणाम देख सकते है l November 16, 2022
  • SSC CGL Tier-1 Admit Card 2022- यहाँ से जानिए एडमिट कार्ड से संबंधित पूरी जानकारी November 15, 2022
  • WCL Apprentice Recruitment 2022: 10 वीं पास उम्मीदवार भी कर सकते हैं आवेदन। November 15, 2022
  • RPSC EO/RO परीक्षा के Handwritten Notes-यहाँ से देखे नोट्स की सम्पूर्ण जानकारी | November 14, 2022
  • UPSC IAS परीक्षा के Handwritten Notes डाउनलोड करे-यहाँ से देखे प्री और मुख्य परीक्षा के नोट्स | November 14, 2022
  • RPSC RAS Handwritten Notes Pre & Mains Exam के लिए | November 14, 2022
  • Rajasthan CET स्नातक स्तर परीक्षा के Handwritten Notes पाठ्यक्रम विकल्प के प्रकार के अनुसार डाउनलोड करे | November 14, 2022
  • CTET Admit Card 2022: यहाँ से जानिए परीक्षा और प्रवेश पत्र से संबंधित जानकरी l November 14, 2022
  • Rajasthan CHO Recruitment 2022: 3531 पदों पर निकाली गई है बंपर भर्ती। November 14, 2022
  • RSMSSB Vanrakshak Admit Card 2022-यहाँ से डाउनलोड करे प्रवेश पत्र | November 11, 2022
  • RBSE ने सत्र 2022-23 के लिए Syllabus & Exam Pattern जारी किया-यहाँ से देखे पाठ्यक्रम की सम्पूर्ण जानकारी | November 11, 2022
  • आलिया भट्ट की बेटी का नाम हो रहा वायरल- यहाँ से जाने नाम l November 11, 2022
  • SSC CHSL परीक्षा के लिए Handwritten Notes-यहाँ से देखे सम्पूर्ण नोट्स की जानकारी | November 10, 2022
  • RPSC 2nd Grade Teacher भर्ती के लिए Handwritten Notes-यहाँ से देखे नोट्स की सम्पूर्ण जानकारी | November 10, 2022

RPSC 1st & 2nd Grade Teacher Notes

ये REET की official website नहीं है और ना ही हम कोई fact & figure का दावा करते है | ये केवल reet candidates की help के लिए है |

MP Board : 10वीं के छात्रों के लिए अच्छी खबर, अब जुड़ेंगे CCLE के अंक, विषयों में मिलेंगे विकल्प, इस साल की परीक्षा के महत्वपूर्ण बदलाव

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एमपी बोर्ड के छात्रों (MP Board Students) के लिए महत्वपूर्ण खबर है। मध्य प्रदेश बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में सीबीएसई (CBSE) की तर्ज पर ही छात्रों के पास अब गणित में 2 में से एक प्रश्न पत्र देने के विकल्प उपलब्ध होंगे। जिसका लाभ छात्रों को मिलेगा। वही यदि उन्हें गणित विषय से डर लगता है तो उन्हें अगले सत्र से दो विकल्प देने की तैयारी की जा रही है।

इसके अलावा यदि 11वीं में गणित विषय नहीं लेना चाहते हैं तो छात्र इसके बेसिक गणित के पेपर का चयन कर सकेंगे और आगे 11वीं में गणित विषय से पढ़ाई करनी है तो स्टैंडर्ड पेपर का चयन करना अनिवार्य होगा।

पिछले साल सीबीएसई में इस नियम को लागू किया गया था। अब एमपी बोर्ड में भी इसे लागू किए जाने की तैयारी की जा रही है। बता दें कि वर्तमान में मध्य प्रदेश बोर्ड में गणित की परीक्षा आयोजित की जाती है। जिससे हर साल गणित विषय में अधिक छात्र असफल होते हैं। वही नई शिक्षा नीति के तहत अब 10वीं और 12वीं के मूल्यांकन में भी कई बदलाव किए गए है।

वही दसवीं के छात्र का फॉर्म भरते समय गणित के दोनों पेपर में से किसी एक का विकल्प विकल्प के प्रकार चुनना होगा। दसवीं में वह उस विकल्प पर परीक्षा दे सकते हैं लेकिन अगर कोई छात्र बेसिक गणित का चुनाव करता है और परीक्षा पास कर लेता है तो उसे आगे की पढ़ाई गणित विषय से लेने के लिए स्टैंडर्ड गणित की परीक्षा देना अनिवार्य होगा।

मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल के उपाध्यक्ष रमा मिश्रा का कहना विकल्प के प्रकार है कि इस बार दसवीं में आंतरिक मूल्यांकन 25 अंक के होंगे। जिसमें सीसीएलइ आधारित मूल्यांकन किया जाएगा जबकि अगले साल से दसवीं गणित में बेसिक और स्टैंडर्ड दो पेपर होंगे। जिसमें से छात्र एक पेपर का चुनाव कर सकेंगे।

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कंटीन्यूअस एंड कंप्रिहेंसिव लर्निंग एंड इवेलुएशन के तहत आंतरिक मूल्यांकन की तैयारी की गई है। जिसमें से 75 अंक के सैद्धांतिक वेपर के अलावा 25 अंक के सीसीएलई आधारित मूल्यांकन का लाभ मिलेगा।

नए बदलाव के तहत पहली बार दसवीं में तिमाही और छमाही परीक्षा के पांच पांच अंक जोड़े जाने का भी निर्णय लिया गया है। इसे माशिम को द्वारा भेजे जाएंगे, स्कूल द्वारा भेजे गए अंक के बाद प्रश्नों का स्तर तीन प्रकार से होगा। 40% सरल प्रश्न के अलावा 45% सामान्य और 15% कठिन प्रश्न देखने को मिलेंगे।

10वीं के सभी विषयों में सैद्धांतिक पेपर के 75 अंक के अलावा आंतरिक मूल्यांकन के 25 अंक शामिल होंगे। आंतरिक मूल्यांकन का विभाजन प्रायोगिक और प्रोजेक्ट वर्क के 15 अंक के अलावा तिमाही और छमाही परीक्षा के 5-5 अंक पर निर्धारित किया गया। 12वीं की परीक्षा में सैद्धांतिक 70 अंक के अलावा प्रायोगिक के 30 अंक शामिल किए गए हैं। जबकि 12वीं के अन्य विषयों के लिए सैद्धांतिक 80 अंक के अलावा प्रोजेक्ट वर्क के 20 अंक को शामिल किया गया है।

MCED परीक्षण रक्त में कैंसर का पता लगा सकता है – जानते है इसके बारे संक्षेप में

पूरे शरीर में फैलने से पहले कैंसर का पता लगाना जीवनरक्षक हो सकता है। यही कारण है कि डॉक्टर विभिन्न प्रकार के तरीकों का उपयोग करके कई सामान्य प्रकार के कैंसर के लिए नियमित जांच की सलाह देते हैं, जैसे की कॉलोनोस्कोपी (colonoscopy), कोलन कैंसर (colon cancer) का पता लगाने विकल्प के प्रकार के लिए किया जाने वाला स्क्रीन हैं, जबकि मैमोग्राम स्तन कैंसर के लिए स्क्रीन।

लोगों को अलग अलग तरह से कैंसर का पता लगाने के लिए अलग अलग तरह के परीक्षण करवाने पड़ते हैं। वैसे तो ये महत्वपूर्ण होते हैं लेकिन फिर भी इन सभी परीक्षणों को करवाना रोगियों के लिए तार्किक रूप से चुनौतीपूर्ण, महंगा और कभी-कभी असुविधाजनक हो सकता है। लेकिन क्या होगा अगर एक ही रक्त परीक्षण सबसे आम प्रकार के कैंसर के लिए एक ही बार में जांच कर सकता है?

मल्टीकैंसर अर्ली डिटेक्शन टेस्ट (multi cancer early detection test) या एमसीईडी (MCED) परीक्षण यह वादा करता है की अब बस एक रक्त परिक्षण से हर प्रकार के कैंसर का पता लगाया जा सकता हैं। धीरे धीरे एमसीईडी (MCED) परीक्षण कैंसर के निदान को पूरी तरह से बदल देगा।

एमसीईडी परीक्षण कैसे काम करता है (How MCED विकल्प के प्रकार tests work)

शरीर की सभी कोशिकाएं, ट्यूमर कोशिकाओं सहित, मरने पर डीएनए को रक्तप्रवाह में बहा देती हैं। एमसीईडी परीक्षण (MCD test) रक्त प्रवाह में ट्यूमर डीएनए की ट्रेस मात्रा की तलाश करते हैं। इस परिसंचारी “सेल-फ्री” (cell-free) डीएनए में इस बात की जानकारी होती है कि यह किस प्रकार के ऊतक (tissue) से आया है और क्या यह सामान्य कोशिका है या कैंसर कोशिका है।

Cancer Screening - Male

  • Total no.of Tests - 3
  • Quick Turn Around Time
  • Reporting as per NABL ISO guidelines

रक्त में परिसंचारी ट्यूमर डीएनए देखने के लिए परीक्षण कोई नई बात नहीं है। ये तरल बायोप्सी (रक्त परीक्षण कहने का एक शानदार तरीका) पहले से ही उन्नत चरण के कैंसर के रोगियों के लिए व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

डॉक्टर इन रक्त परीक्षणों का उपयोग ट्यूमर डीएनए में उत्परिवर्तन (mutations) देखने के लिए करते हैं जो उपचार को निर्देशित करने में मदद करते हैं। चूंकि अंतिम चरण के कैंसर वाले रोगियों के रक्त में बड़ी मात्रा में ट्यूमर डीएनए प्रसारित (tumor विकल्प के प्रकार DNA circulate) होता है, इसलिए इन अनुवांशिक परिवर्तनों की उपस्थिति का पता लगाना अपेक्षाकृत आसान होता है।

एमसीईडी परीक्षण मौजूदा तरल बायोप्सी से अलग हैं क्योंकि तरल बायोप्सी प्रारंभिक चरण के कैंसर का पता लगाने के लिए उपयोग किये जाते हैं। एक तरल बायोप्सी तब किया जाता है जब कोई ट्यूमर कोशिकाएं नहीं होती हैं। इन कैंसर कोशिकाओं का पता लगाना शुरू में चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि गैर-कैंसर कोशिकाएं भी डीएनए को रक्तप्रवाह में बहा देती हैं। चूंकि रक्तप्रवाह में अधिकांश परिसंचारी डीएनए गैर-कैंसर कोशिकाओं (non-cancerous cells) से आता है, इसलिए कैंसर डीएनए के कुछ अणुओं की उपस्थिति का पता लगाना काफी मुश्किल होता है।

चीजों को और भी कठिन बनाते हुए, रक्त कोशिकाएं उम्र बढ़ने के साथ स्वाभाविक रूप से असामान्य डीएनए बहाती हैं, और ये किस्में कैंसर डीएनए को प्रसारित करने के लिए भ्रमित हो सकती हैं। क्लोनल हेमटोपोइजिस (clonal hematopoiesis) के रूप में जानी जाने वाली इस घटना ने एमसीईडी परीक्षणों (MCED tests) को विकसित करने के शुरुआती प्रयासों को बहुत गलत सकारात्मक परिणामों के साथ भ्रमित कर दिया।

सौभाग्य से, नए परीक्षण कैंसर डीएनए में एम्बेडेड एक प्रकार के “आणविक बारकोड” (molecular barcode) पर ध्यान केंद्रित करके रक्त कोशिका के हस्तक्षेप से बचने में सक्षम हैं जो उस ऊतक (tissue) की पहचान करता है जिससे यह आया था। ये बारकोड डीएनए मिथाइलेशन (DNA methylation) का परिणाम हैं, डीएनए की सतह में स्वाभाविक रूप से मौजूदा संशोधन जो शरीर में प्रत्येक प्रकार के ऊतक के लिए भिन्न होते हैं।

उदाहरण के लिए, फेफड़े के ऊतकों (lung tissue) में स्तन ऊतक (breast tissue) की तुलना में एक अलग डीएनए मिथाइलेशन पैटर्न (DNA methylation pattern) होता है। इसके अलावा, कैंसर कोशिकाओं में असामान्य डीएनए मेथिलिकरण पैटर्न (DNA methylation pattern) होते हैं जो कैंसर के प्रकार से संबंधित होते हैं। विभिन्न डीएनए मिथाइलेशन पैटर्न (DNA methylation pattern) को सूचीबद्ध करके, एमसीईडी परीक्षण (MCED tests) डीएनए के उन वर्गों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जो कैंसर और सामान्य ऊतक के बीच अंतर करते हैं और कैंसर की उत्पत्ति साइट को इंगित करते हैं।

परीक्षण विकल्प (Testing options)

वर्तमान में विकास और नैदानिक ​​परीक्षणों में कई एमसीईडी परीक्षण (MCED tests) हैं। कोई एमसीईडी परीक्षण (MCED tests) वर्तमान में एफडीए-अनुमोदित या चिकित्सा समितियों द्वारा अनुशंसित नहीं है। 2021 में, बायोटेक कंपनी GRAIL ने अमेरिका में पहला व्यावसायिक रूप से उपलब्ध MCED परीक्षण लॉन्च किया, इसका गैलेरी परीक्षण 50 से अधिक विभिन्न प्रकार के कैंसर का पता लगाने का दावा करता है।

कम से कम दो अन्य यू.एस.-आधारित कंपनियां, Exact Sciences and Freenom, और एक चीनी कंपनी (Chinese company), सिंगलेरा जीनोमिक्स (Singlera Genomics), के विकास में परीक्षण हैं। इनमें से कुछ परीक्षण ट्यूमर डीएनए को प्रसारित करने के अलावा विभिन्न कैंसर का पता लगाने के तरीकों का उपयोग करते हैं, जैसे कि रक्त में कैंसर से जुड़े प्रोटीन की तलाश करना। एमसीईडी परीक्षण (MCED tests) अभी तक आमतौर पर बीमा द्वारा कवर नहीं किए जाते हैं।

बिना इंटरनेट के पैसे ट्रांसफर कैसे करें

बिना इंटरनेट के पैसे ट्रांसफर कैसे करें bina internet ke paise transfer kaise kare : आज लगभग सभी बैंकों ने घर बैठे पैसा ट्रांसफर करने की सुविधा दे दिया है। हम अपने मोबाइल या कंप्यूटर के माध्यम से बस कुछ ही मिनट में दूसरे के अकाउंट में पैसे भेज सकते है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो नार्मल फीचर फोन का उपयोग करते है और कुछ जगह अभी तक इंटरनेट की पहुँच संभव नहीं हो पाया है।

अगर आप भी नार्मल फीचर फोन विकल्प के प्रकार का इस्तेमाल करते है या आप जहाँ रहते है वहां इंटरनेट नहीं है, तब आप बैंक की बिना इंटरनेट पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा का इस्तेमाल कर सकते है। लेकिन अधिकांश लोगों को इस सुविधा के बारे में नहीं पता है। इसलिए यहाँ हम बिना नेट के पैसे ट्रांसफर करने का आसान और सुरक्षित तरीका के बारे में आपको बता रहे है। तो चलिए शुरू करते है।

देश भगत विश्वविद्यालय ने लागू की नई शिक्षा नीति-2020

Desh Bhagat University

Desh Bhagat University

Desh Bhagat University: देश भगत विश्वविद्यालय वर्षों से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने वाले पंजाब के शीर्ष विश्वविद्यालयों में से एक है। देश भगत विश्वविद्यालय ने NEP-2020 को लागू करने के अपने प्रयासों के बारे में जनता में जागरूकता पैदा करने के लिए 14 नवम्बर, 2022 को प्रेस क्लब, डोगरा चौक, जम्मू में एक पत्रकार सम्मेलन आयोजित किया। देश भगत विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डॉ. संदीप सिंह और उपाध्यक्ष डॉ. हर्ष सदावर्ती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों को सम्बोधित किया और विश्वविद्यालय द्वारा लागू की गई नई शिक्षा नीति-2020 से संबंधित जानकारी प्रदान की।

उपाध्यक्ष डॉ. हर्ष सदावर्ती ने कहा कि देश भगत विश्वविद्यालय ने कई वर्षों तक शिक्षा, नवाचार और उद्यमिता के क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि देश भगत यूनिवर्सिटी ने छात्रों को अधिक एक्सपोजर देने के लिए, कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों और विश्वविद्यालयों जैसे एडुस्किल्स, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बॉम्बे, डीपीयू थाईलैंड, लिंकन यूनिवर्सिटी यूएसए, होला इंडिया मैड्रिड,आदि कई अन्य संस्थानों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

विदेश जाने के इच्छुक छात्रों के लिए बहु-निकास विकल्प

विश्वविद्यालय ने विदेश जाने के इच्छुक छात्रों के लिए बहु-निकास विकल्प भी पेश किए हैं । इस के अंतर्गत वे अपनी सहूलियत के अनुसार विकल्प चुन सकते है और यदि वो कोर्स पूरा किये बिना विदेश जाते है तो वे वापिस आने के बाद भी अपनी पढ़ाई पूरी कर सकते है उनकी पढ़ाई या समय का नुक्सान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हमने अकादमिक और गैर-शैक्षणिक दोनों क्षेत्रों में छात्रों के सर्वांगीण विकास को बढ़ावा देने के लिए एनईपी लागू किया है। उन्होंने कहा कि विकल्प के प्रकार देश भगत यूनिवर्सिटी सी एस आर के अंतर्गत विभिन स्कूलों और कॉलेजो को भी जोड़ रही है तथा आर्थिक सहायता भी प्रदान कर रही है ताकि अधिक से अधिक छात्रों को इस का लाभ मिल सके।

माननीय अध्यक्ष डॉ. संदीप सिंह ने कहा कि देश भगत यूनिवर्सिटी ने आईलेट्स प्लस प्रोजेक्ट लॉन्च किया है। इसके अनुसार स्नातक से नीचे के छात्रों के लिए विभिन्न प्रकार की निकास संभावनाओं के साथ 4 वर्षीय, बहु-विषयक स्नातक डिग्री कार्यक्रम शुरू किया है। इसमें पेशेवर और व्यावसायिक दोनों क्षेत्रों को शामिल किया गया है। हालांकि, 4-वर्षीय बहु-विषयक स्नातक की डिग्री बेहतर विकल्प है । अन्य विकल्पों में एक वर्ष का अध्ययन पूरा करने के बाद एक प्रमाण पत्र शामिल है; दो साल का अध्ययन पूरा करने के बाद डिप्लोमा; और 3 साल का कार्यक्रम पूरा करने के बाद स्नातक की डिग्री।

डॉ. संदीप सिंह ने कहा कि देश भगत विश्वविद्यालय ने रोज़गार मेलों और कैंपस रिक्रूटमेंट के माध्यम से लाखों जॉब प्लेसमेंट भी उपलब्ध कराए हैं। उन्होंने कहा कि देश भगत विश्वविद्यालय का विकल्प के प्रकार उद्देश्य न केवल छात्रों को शिक्षित करना है बल्कि उन्हें कौशल से परिपूर्ण कर उन्हें सर्वोत्तम अवसर प्रदान करना भी है ताकि उनका भविष्य उज्जवल और सुरक्षित हो सके।

रेटिंग: 4.23
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 435
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *